महाकाल की नगरी उज्जैन से 250 क्विंटल लड्डू पहुंचेंगे अयोध्या 

 

महाकाल की नगरी उज्जैन से 250 क्विंटल लड्डू पहुंचेंगे अयोध्या महाकाल की नगरी उज्जैन से 250 क्विंटल लड्डू पहुंचेंगे अयोध्या 

  • ‘चिंतामन गणेश मंदिर’ में तैयार हुए हैं लड्डू
  • यह वही चिंतामन गणेश मंदिर है, जिसे माता सीता ने किया था स्थापित
  • एक लड्डू का वजन है लगभग 50 ग्राम

जयपुर। भगवान महाकाल की नगरी उज्जैन से प्रभु श्री राम के लिए शुद्ध देशी घी एवं सूखे मेवे से तैयार पांच लाख लड्डू अवध नगरी भेजे जाएंगे। 4 लाख लड्डू बनकर तैयार हैं, शेष एक लाख लड्डू बनाने का कार्य निरंतर जारी है।

इन लड्डुओं की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इन्हें ‘चिंतामन गणेश मंदिर’ में तैयार किया जा रहा है। यह वही चिंतामन गणेश मंदिर है, जिसे वनवास के दौरान स्वयं माता सीता ने स्थापित किया था।

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार चिंतामण गणेश मंदिर बहुत प्राचीन है, जो माता सीता द्वारा स्थापित षट् विनायकों में से एक है। वनवास के दौरान माता सीता गहरी चिंता में थीं कि बिना किसी बाधा के रास्ता सुगमता से कैसे कटे। जब उन्होंने प्रभु श्री राम और लक्ष्मण के साथ अवंतिका खंड के महाकाल वन में प्रवेश किया था, तब अपनी यात्रा की निर्विघ्नता के लिए उन्होंने षट् विनायकों की स्थापना की थी। तभी से ऐसा माना जाता है कि, किसी भी प्रकार की चिंता होने पर चिंतामन गणेश जी के दर्शन मात्र से ही भक्तों की चिंता दूर हो जाती है।

ज्योतिर्लिंग श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति की ओर से तैयार किए जा रहे पांच लाख लड्डुओं का वजन 250 क्विंटल और कीमत लगभग 1 करोड़ रुपए है। वहीं,एक लड्डू का वजन लगभग 50 ग्राम है।

लड्डू बनाने में लगी सामग्री

लड्डू बनाने में 80 क्विंटल घी, 90 क्विंटल शक्कर, 70 क्विंटल चना दाल, 20 क्विंटल रवा, 10 क्विंटल काजू, 5 क्विंटल किशमिश और एक क्विंटल इलायची का उपयोग किया जा रहा है।

ट्रकों से अयोध्या पहुंचेंगे लड्डू

मंदिर प्रबंध समिति की ओर से ये पांच लाख लड्डू पांच ट्रकों के माध्यम से अयोध्या पहुंचेंगे। लड्डुओं को कोई नुकसान न हो इसलिए पैकेट में पैक किया गया है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *